Welcome To CITIPEDIA

गोलगप्पे खाकर पैसे मांगने पर तमंचे से मारी गोली

लोग मामूली बातों पर अब अपना आपा खो का हत्या जैसे संगीन वारदात को अंजाम देने लगे हैं गोलगप्पे खाने के बाद उसके पैसे मांगने पर युवक ने गोलगप्पे का ठेला लगाने वाले तेजपाल उम्र 36 साल की कनपटी पर गोली मारकर हत्या कर दी इसके बाद वह तमंचा लहराते हुए भाग गया यह सनसनीखेज वारदात बुधवार को शाम 4:45 बजे बहजोई थाना क्षेत्र के गांव नगरिया कठेर में हुई यह बताया गया है कि एक युवक ने हत्यारे का पीछा भी किया लेकिन वह पकड़ में नहीं आया हत्यारोपी शिवराज पुलिस की पकड़ से बाहर है मृतक के भाई जोगेंद्र ने शिवराज के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है बहजोई थाना क्षेत्र में 1 दिन में यह दूसरी घटना है जोगिंदर के अनुसार नगरिया कटहर में उसका भाई तेजपाल गोलगप्पे बेचता था उसका पड़ोसी युवक शिवराज सब्जी का ठेला लगाता था दोनों के घर 50 मीटर के दायरे में है तेजपाल ने बुधवार को अपना पहला शिवराज के घर से करीब 10 मीटर दूरी पर लगा दिया शिवराज और उसके परिजनों ने गोलगप्पे खाए जब तेजपाल ने गोलगप्पे के पैसे मांगे तो उसने देने से मना कर दिया उसके भाई ने गोलगप्पे के पिछले बकाया के साथ बुधवार के भी पैसे मांगे तो दोनों के बीच में तू-तू मैं-मैं हो गई शिवराज ने तेजपाल को तमंचा निकालकर गोली मार दी जिससे कि उसकी मौके पर ही मौत हो गई पीछा करने पर उसने गोली मारने की धमकी देकर उसे भगा दिया हत्या के बाद वह और उसकी भाभी सुशीला मौके पर पहुंचे तो मृतक का शरीर देखकर बेहोश होकर गिर पड़े पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार जयसवाल सीओ अशोक कुमार और इंस्पेक्टर रविंद्र प्रताप सिंह मौके पर पहुंचे पीड़ित परिवार से घटना की जानकारी ली पुलिस ने आरोपी युवक के घर दबिश दी तो उसके घर कोई नहीं मिला पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने भी बताया कि गोलगप्पे के पैसे मांगने पर मामूली विवाद में गोली मारी गई है शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है पुलिस अब हत्यारोपी की तलाश कर रही है चाट पकौड़ी और गोलगप्पे का ठेला लगाकर गुजारा करने वाले तेजपाल अपने घर में परिवार का एकमात्र सहारा था उसके परिवार में पत्नी सुशीला के अलावा बेटी ज्योति उम्र 14 साल विवेक 12 साल आलोक 8 साल तीन बच्चे हैं इनके साथ माता-पिता का गुजारा तेजपाल की आमदनी सही होता था तेजपाल की मौत से इनके पूरे परिवार को गहरा सदमा लगा है उसका कभी भी किसी से कोई विवाद नहीं हुआ था आर्थिक तौर पर कमजोर तेजपाल ठेला लगाकर अपने रोजाना की कमाई और घर खर्च करता था।

leave your comment


Your email address will not be published. Required fields are marked *